Home Party Updates BJP तय हो गया यूपी के CM का नाम, भाजपा का औपचारिक ऐलान...

तय हो गया यूपी के CM का नाम, भाजपा का औपचारिक ऐलान बाक़ी!

मनोज सिन्हा होंगे यूपी के मुख्यमंत्री!.सीएम पद की दौड में सबसे आगे थे राजनाथ, लेकिन किया इंकार।

266

 

manoj_sinha_on_pratyashi.com

नयी दिल्ली- उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में प्रचंड बहुमत पाने वाली भारतीय जनता पार्टी ने मुख्यमंत्री के नाम को लगभग अंतिम रूप दे दिया है। सूत्रों के अनुसार भाजपा संसदीय दल ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के नाम पर अपनी मुहर लगा दी है और माना जा रहा है कि गाजीपुर से सांसद व केन्द्रीय रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा यूपी के नये मुख्यमंत्री होंगे। हालांकि अंतिम फैसला 18 मार्च को लखनऊ में होने वाली भाजपा विधानमंडल की पहली बैठक में लिया जायेगा।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के करिश्माई नेतृत्व में उत्तर प्रदेश समेत पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों में चार राज्यों में शानदार सफलता हासिल करने के बाद भाजपा ने गोवा व मणिपुर में पूर्ण बहुमत न मिलने के बावजूद अपनी सरकार का गठन कर लिया, जबकि उत्तर प्रदेश व उत्तराखंड में प्रचंड बहुमत मिलने के बावजूद अभी तक मुख्यमंत्री के नाम पर अंतिम फैसला नहीं हो सका है।

11 मार्च को मतगणना के पश्चात चुनाव नतीजे घोषित किये जा चुके हैं। दोनों ही राज्यों में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को आगे रखकर ही चुनाव लडा गया और मुख्यमंत्री का कोई चेहरा मैदान में नहीं उतारा गया था। अब जबकि उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में भाजपा को प्रचंड बहुमत मिला है तो मुख्यमंत्री के नाम को लेकर भी अलग-अलग कयास लगाये जा रहे हैं। राजनीतिक हलकों में उत्तराखंड को लेकर भले ही ज्यादा चर्चा न हो, लेकिन उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के नाम को लेकर अलग-अलग चर्चा हैं।

केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह का नाम उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में सबसे पहले नम्बर पर चल रहा था, लेकिन सूत्रों के अनुसार आज देर रात्रि में भाजपा संसदीय दल ने गाजीपुर से भाजपा सांसद व केन्द्रीय रेल राज्यमंत्री तथा संचार मंत्री का स्वतंत्र प्रभार संभालने वाले मनोज सिन्हा के नाम पर अंतिम मुहर लगा दी। हालांकि अभी मुख्यमंत्री के नाम की औपचारिक घोषणा नहीं की गई है और आगामी 18 मार्च को शाम पांच बजे लखनऊ में भाजपा विधानमंडल दल की बैठक में मुख्यमंत्री का नाम घोषित होगा। अब जबकि मनोज सिन्हा का मुख्यमंत्री के रूप में नाम फाइनल हो गया है, तो यह भी जानना जरूरी है कि राजनाथ सिंह मुख्यमंत्री क्यों नहीं बन रहे हैं। वैसे तो राजनाथ सिंह खुद भी उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनने के इच्छुक नहीं थे और उन्होंने कई बार मीडियाकर्मियों द्वारा पूछे गये सवाल पर भी सीधा जवाब ‘ना’ में ही दिया था।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी राजनाथ सिंह को उत्तर प्रदेश भेजने के इच्छुक नहीं बताये जा रहे हैं। गोवा में त्रिशंकु परिणाम आने के बाद भाजपा की मात्र 13 सीटें आई थी, जिससे उसके सरकार बनने के आसार काफी कम थे, लेकिन निर्दलीय विधायकों ने शर्त रख दी थी कि यदि मनोहर पर्रिकर गोवा के मुख्यमंत्री बनते हैं तो वे भाजपा को समर्थन दे देंगे, इसी कारण केन्द्रीय रक्षामंत्री के पद से इस्तीफा देकर मनोहर पर्रिकर गोवा के मुख्यमंत्री बने। रक्षामंत्री का पद खाली होने के बाद अरूण जेटली को अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया। अब राजनाथ सिंह को यदि उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाया जाता तो केन्द्रीय गृह मंत्री के पद पर उनके जैसा सुलझा हुआ चेहरा मोदी के पास नहीं था, इसी कारण प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राजनाथ सिंह को उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाने पर अपनी सहमति नहीं दी, जिसके बाद मनोज सिन्हा का नाम लगभग फाइनल कर दिया गया।